सुप्रीम कोर्ट का फैसला, लेवल-1 के लिए बीएड वाले अपात्र, अब नहीं कर पाएंगे आवेदन

BED BSTC Vivad Judgement Supreme Court: सुप्रीम कोर्ट का फैसला, लेवल-1 के लिए बीएड वाले अपात्र, अब नहीं कर पाएंगे आवेदन, जल्द देखें

BED BSTC Vivad Supreme Court: सभी बीएड डिग्री धारकों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने एक बड़ी फैसला लिया हुआ है. यह फैसला BED BSTC Vivad माननीय सुप्रीम कोर्ट के द्वारा लिया गया है। इसके मुताबिक, ऐसा व्यक्ति बीएड डिग्री धारक है और प्राइमरी टीचर बनना चाहता है तो आपके लिए एक बेहद जरूरी सूचना आई है। इसके मुताबिक BED BSTC Vivad को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने एक बेहद अहम फैसला लिया है, जिसके मुताबिक अब बीएड डिग्री धारक प्राथमिक शिक्षक नहीं बन सकेंगे। इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट का जजमेंट आया हुआ है

BED BSTC Vivad Supreme Court: बीएड बीएसटीसी विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला इसके तहत सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा है इसकी पूरी जानकारी आप इस लेख में विस्तार से पढ़ सकते हैं। इसके साथ ही अब प्राइमरी टीचर के पदों के लिए कौन से व्यक्ति आवेदन कर सकते हैं इसकी जानकारी नीचे विस्तार से दी गई है. BED BSTC Vivad के बारे में अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

BED BSTC Vivad Supreme Court News

Article NameBED BSTC Vivad Supreme Court: सुप्रीम कोर्ट का फैसला, लेवल-1 के लिए बीएड वाले अपात्र, अब नहीं कर पाएंगे आवेदन, जल्द देखें
Post TypeBED vs BSTC Controversy News
Controversy NameBED BSTC Vivad Supreme Court
BED vs BSTC Controversy Judgement Date11-08-2023
Course NameBed (Bachelor Of Education)
BED vs BSTC Controversy Judgement DecisionMention In Article
Official Websitehttps://main.sci.gov.in/
Short Info..BED BSTC Vivad Supreme Court: सभी बीएड डिग्री धारकों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने एक बड़ी फैसला लिया हुआ है. यह फैसला BED BSTC Vivad माननीय सुप्रीम कोर्ट के द्वारा लिया गया है। इसके मुताबिक, ऐसा व्यक्ति बीएड डिग्री धारक है और प्राइमरी टीचर बनना चाहता है तो आपके लिए एक बेहद जरूरी सूचना आई है। इसके मुताबिक BED BSTC Vivad को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने एक बेहद अहम फैसला लिया है, जिसके मुताबिक अब बीएड डिग्री धारक प्राथमिक शिक्षक नहीं बन सकेंगे। इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट का जजमेंट आया हुआ है

BED BSTC Vivad Supreme Court Judgement

BED BSTC विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला: 11 अगस्त 2023 को भारत के सुप्रीम कोर्ट द्वारा एक बेहद अहम फैसला लिया गया है। देश में शिक्षक भर्ती को लेकर यह फैसला लिया गया है. इसके मुताबिक, ऐसे लोग जिनके पास बीएड की डिग्री है, वे अब प्राथमिक शिक्षक भर्ती के तहत आवेदन नहीं कर सकते हैं.

BED BSTC Vivad तहत कक्षा 1 से कक्षा 5 तक के बच्चों को पढ़ाने के लिए बीएड डिग्री धारकों की भर्ती नहीं की जाएगी। इसके तहत सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा है इसकी पूरी जानकारी नीचे विस्तार से दी गई है। ताकि आपको इस खबर के बारे में विस्तार से जानकारी मिल सके. बीएड डिग्रीधारी अब नहीं बन पायेगे प्राथमिक शिक्षक माननीय सुप्रीम कोर्ट का जजमेंट आया हुआ है. ऐसे में अगर आपने भी B.Ed किया हुआ है तो आप बाप 1 से लेकर 5 तक के क्लास के टीचर बनने के लिए योग्य नहीं हो पाएंगे

BED BSTC Vivad Supreme Court: सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा

सुप्रीम कोर्ट ने बीएड बीएसटीसी विवाद पर अपना फैसला सुना दिया है। BED BSTC Vivad के तहत कक्षा 1 से कक्षा 5 तक के बच्चों को पढ़ाने के लिए BED डिग्री धारकों की भर्ती नहीं की जाएगी। इसके तहत सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा है. बीएड डिग्री धारक अब प्राथमिक शिक्षक नहीं बन सकेंगे, माननीय सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ गया है। ऐसे में अगर आपने भी बीएड किया है तो आप कक्षा 1 से 5 तक के शिक्षक नहीं बन पाएंगे।

BED BSTC Vivad Supreme Court: बीएड डिग्रीधारी नहीं बन पायेगे प्राथमिक शिक्षक

नई दिल्ली सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि बीएड डिग्री के आधार पर प्राइमरी स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति नहीं की जा सकती। जानकारी के मुताबिक, पाठ्यक्रम ने 30 मई, 2018 को राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) द्वारा जारी अधिसूचना को भी रद्द कर दिया। इस अधिसूचना में बीएड डिग्री धारकों को भी लेवल 1 (पांचवीं कक्षा) की नियुक्ति के लिए पात्र माना गया था।

BED BSTC Vivad Supreme Court: अब इन्हें मिलेगा मौका

BED BSTC Vivad: सुप्रीम कोर्ट ने माना कि बीएड डिग्री धारक प्राइमरी टीचर यानी 5वीं कक्षा तक के बच्चों को पढ़ाने के पात्र नहीं होंगे। इसलिए, केवल बेसिक स्कूल टीचिंग सर्टिफिकेट (बीएसटीसी) यानी डी.एल.एड समकक्ष डिग्री धारकों को ही प्राथमिक शिक्षक के लिए पात्र माना जाएगा। यानी आप बीएड धारकों के साथ प्राथमिक शिक्षक के पदों के लिए आवेदन नहीं कर पाएंगे और न ही आवेदन कर पाएंगे. ऐसे में डीएलएड करने वालों को प्राथमिक शिक्षक बनने का मौका मिलेगा

BED BSTC Vivad ऐसे हुआ तो शुरू

बीएड बीएसटीसी विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला: जानकारी के मुताबिक 28 जून 2018 को नोटिफिकेशन जारी किया गया था और ग्रेड थर्ड शिक्षक भर्ती के इस लेवल-वन में बीएड डिग्री धारक को पात्र माना गया था, साथ ही यह भी स्पष्ट किया गया था कि ऐसे बीएड डिग्री धारक को नियुक्ति मिलने से रोक दिया जाएगा। छह माह में ब्रिज कोर्स करना होगा. एनसीटीई के इस नोटिफिकेशन के साथ ही बीएसटीसी और बीएड धारकों के बीच BED BSTC Vivad शुरू हो गया.

BED BSTC Vivad: Important Links

BPSC Teacher Admit Card 2023Click Here
Bihar Shiksha Sevak Bharti 2023Click Here
Check Official WebsiteClick Here
Bihar Bed Education Loan YojanaClick Here
InstagramClick Here
TwitterClick Here
TelegramClick Here

इन्हें भी देखें:

Scroll to Top